Tera Intezaar Ab Bhi Hai - Poem In Hindi | Paridhi Goel


Tera Intezaar Ab Bhi Hai Lyrics In Hindi : -

हम शायरों की दुनिया का इतना सा फ़साना है
जो दिल में आता है पन्नों पर बिखर जाना है
मेरी डायरी के पन्ने कुछ इस अंदाज में पढे उसने 

 यू लगा कमबख्त आज ही सारी शिकायतें दूर कर देगा
कि तू जिंदगी की कशमकश में इतना मदहोश है

तूने सुना ही नहीं वो शोर मेरे अंदर, जो बहुत खामोश है
जाने क्यों खुदा से एक दरकार अब भी है

मुझे तेरे वापस आने का इंतजार अब भी है
तुझे वापस पाना चाहती भी हूं और नहीं भी
क्योंकि तुमसे शिकायतें हजार अब भी है

मुझे तेरे वापस आने का इंतजार अब भी है
भले ही मिलते ना हो एक दूसरे से अब हम

पर तेरे दिल से जुड़े मेरे दिल के तार अब भी है
सब कुछ छूट गया जाना, तुझे पाने की चाहत में
मेरी इस बर्बादी का जिम्मेदार तू अब भी है

मुझे तेरे वापस आने का इंतजार अब भी हैं
एक अरसा बीत गया हमें मिले हुए

पर आंखों में तेरा दीदार अब भी है।
अब तो लो, हाय भी नहीं होती व्हाट्सएप पर
पर मुझे तेरा लास्ट सीन देखना बार-बार अब भी है

मुझे तेरे वापस आने का इंतजार अब भी है
दिल करता है कि तू भाग कर आए और मुझे गले लगा ले

तेरी बाहों में उस जन्नत का एहसास अब भी है
वो हर लम्हा जो बिताया है तेरे संग मैंने
मुझे उसका नशा उसका खूमार अब भी है

मुझे तेरे वापस आने का इंतजार अब भी है
तू भी चाहता है मुझे वापस पाना ये जानती हूं

मगर मेरे होठों पर ये झूठा इंकार अब भी है
दिमाग कहता है अक्सर मत सुन दिल की
मगर मैं क्या करूं मेरे दिल को तुमसे प्यार अब भी है
मुझे तेरे वापस आने का इंतजार अब भी है।

Tera Intezaar Ab Bhi Hai - Poen In Hindi | Paridhi Goel Video -

Post a Comment

0 Comments